पालनहार योजना मे अनाथ बच्चों की बढ़ाई सहायता राशि अब से मिले गए रुपए 2500 हर महीन

पालनहार योजना  मे अनाथ  बच्चों की बढ़ाई सहायता राशि अब से मिले गए  रुपए 2500 हर महीन  



पालनहार योजना  मे अनाथ  बच्चों की बढ़ाई सहायता राशि अब से मिले गए  रुपए 2500 हर महीन


हैलो दोस्तों जैसा की आप जानते हो की माननीय श्री अशोक गहलोत जी ने पालहार योजना को फिर से नई तरीके से चालू किया है ! जहा पहले आनाथ बच्चों को जो सहायता राशि दी जाती थी वो बहुत काम थी जिन से उने का पालन पोषण मे कठनाई आती थी जो की पहले सहायता राशि 0-6 वर्ष के बच्चों के लिए तय राशि 500 रुपया थी जिसे माननीय श्री अशोक गहलोत जी ने अब उसे ये 1500 रुपया कर दी जाए गई जी के लिए माननीय श्री अशोक गहलोत जी अपने बिल मे अब सामिल कर्ने जा रहे है ! 

दोस्तों  जेसे की पहले 6-18 साल के अनाथ बचहो की सहायता राशि 1000 रुपया थी जिसे  माननीय श्री अशोक गहलोत जीबेढ़ा कर अब 2500 रुपया कर दी है ! तथा एस scheme का लाभ उठाने के लिए पालन कर्ता को कुछ दस्तावेज अपने नजदीकी E_Mitra केंद्र पर अनलाइन केरवाने होंगे जिसे से पालनहार की सहायता राशि को आप की पालनहार के फॉर्म मे अपडेट की जाए गई  

दोस्तों  राजस्थान सरकार ने ये अहम  फसला  बढ़ती हुई मेहगाई को दखेते हुए ये फसला लेने का विचार किया है !और माननीय श्री अशोक गहलोत जी बताया है कि जल्दी ही यह स्कीम सभी पालनहार को प्राप्त होगी


दोस्तों अब हम आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे आप पालनहार के फॉर्म में अपने दस्तावेज अपडेट करवा सकते हैं 

दोस्तों अगर आप पालन पालन करता हो तो आपको निम्न डाक्यूमेंट्स की जरूरत होगी जिससे आप पालनहार के फॉर्म में अपडेट करवा सकते हैं

पालनहार फोन को अपडेट करने के लिए क्या दस्तावेज लगेंगे

पालनहार फॉर्म

  • अनाथ बच्चों का आईडी कार्ड
  • पालनकर्ता का राशन कार्ड
  • पालनकर्ता का आधार कार्ड
  • बच्चों का आधार कार्ड
  • बच्चों का जन्म प्रणाम पत्र
  • बच्चों का शिक्षा का प्रणाम पत्र
पालनहार के फोन को अपडेट करने के लिए इन सभी दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी जो कि आप एक ही मित्र पर जाकर अपडेट करवा सकते हैं तथा इस स्कीम का लाभ उठा सकते हैं अपडेट होने के बाद आपके तुरंत अगले महीने मे आप की सहायता राशि बढ़कर आना स्टार्ट हो जाएगी
दोस्तों अगर यह पोस्ट आपके लिए लाभदायक है तो आप कृपया इसे आगे फॉरवर्ड करें तथा अपने दोस्तों को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें तथा यह जानकारी सब तक पहुंचाएं ताकि अनाथ बच्चों के  पालन करता को परेशानी ना हो तथा उनके पालन पोषण अच्छे तरीके से हो सके

Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url