CBSE Board Exam 2022: कोरोना के चलते सीबीएसई बोर्ड परीक्षा पर भी संकट के बादल मंडराने लगे हैं

 

CBSE Board Exam 2022: कोरोना के चलते सीबीएसई बोर्ड परीक्षा पर भी संकट के बादल मंडराने लगे हैं. अगर कोरोना के मामले लगातार बढ़ते रहे तो बोर्ड परीक्षा को लेकर सरकार का क्या फैसला होगा?


CBSE Board Exam 2022: कोरोना के चलते सीबीएसई बोर्ड परीक्षा पर भी संकट के बादल मंडराने लगे हैं

CBSE Board Exam 2022: कोरोना के चलते सीबीएसई बोर्ड परीक्षा पर भी संकट के बादल मंडराने लगे हैं


देश के कई हिस्सों में एक बार फिर तेजी से  कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं. देश की राजधानी नई दिल्ली और मुंबई भी कोरोना के बढ़ते असर से अछूती नहीं हैं ऐसे में कोरोना के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए एक बार फिर से पाबंदियों पर विचार किया जा जा सकाता  है देश के कुछ हिस्सों में एक बार फिर से मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है।


 

इन सबके बीच सीबीएसई बोर्ड परीक्षा को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है। कुछ ही दिनों में परीक्षाएं होनी हैं और कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. ऐसे में CBSE BOARD परीक्षा को लेकर सरकार का क्या फैसला होगा? हर छात्र के मन में यह सवाल उठ रहा है कि क्या कोरोना बढ़ने पर सीबीएसई की 10TH और 12TH की परीक्षाएं रद्द की जा सकती हैं.

 

अगर कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी जारी रही तो  सरकार परीक्षा रद्द करने जैसा फैसला ले सकती है? फिलहाल परीक्षाओं को स्थगित करने से संबंधित विकल्प पर विचार करने की संभावना नजर नहीं रही है, क्योंकि परीक्षा में ज्यादा समय नहीं बचा है.

 

इस साल देश में कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति को देखते हुए बोर्ड परीक्षा दो  पारी में कराने का फैसला लिया गया. जो छात्र संक्रमण के कारण एक परीक्षा में शामिल नहीं हो सके, उनके अंकों की गणना दूसरी परीक्षा के आधार पर की जाएगी। हालांकि इस नीति को अब सीबीएसई द्वारा समाप्त करने का निर्णय लिया गया है, इसके लिए संशोधित पाठ्यक्रम भी जारी कर दिया गया है।

 

हालांकि असमंजस की स्थिति यह है कि बढ़ते कोरोना के बीच होम सेंटर पर परीक्षा कराई जाए या किसी अन्य केंद्र पर। हालांकि इस बात की पूरी संभावना है कि बोर्ड की परीक्षाएं होम सेंटर पर ही कराई जाएं। वहीं अगर कोरोना की स्थिति और खराब होती है तो परीक्षा को ऑनलाइन करने पर विचार किया जा सकता है.

 

हालांकि एक विकल्प यह भी है कि परीक्षा ऑफ़लाइन आयोजित की जानी चाहिए, लेकिन कोई झिझक नहीं होनी चाहिए। ऐसे में बोर्ड परीक्षा के दौरान कोरोना को ध्यान में रखते हुए जरूरी प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा. परीक्षा के दौरान सख्त पाबंदियों से समझौता नहीं किया जाएगा, जिससे किसी भी छात्र की सुरक्षा को कोई खतरा  नहीं लिया जाएगा नहीं लिया जाएगान हो।. अगर कोरोना के मामले लगातार बढ़ते रहे तो बोर्ड परीक्षा को लेकर सरकार का क्या फैसला होगा?

देश के कई हिस्सों में एक बार फिर तेजी से  कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं. देश की राजधानी नई दिल्ली और मुंबई भी कोरोना के बढ़ते असर से अछूती नहीं हैं ऐसे में कोरोना के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए एक बार फिर से पाबंदियों पर विचार किया जा जा सकाता  है देश के कुछ हिस्सों में एक बार फिर से मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है।

 

इन सबके बीच सीबीएसई बोर्ड परीक्षा को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है। कुछ ही दिनों में परीक्षाएं होनी हैं और कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. ऐसे में CBSE BOARD परीक्षा को लेकर सरकार का क्या फैसला होगा? हर छात्र के मन में यह सवाल उठ रहा है कि क्या कोरोना बढ़ने पर सीबीएसई की 10TH और 12TH की परीक्षाएं रद्द की जा सकती हैं.

 

अगर कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी जारी रही तो  सरकार परीक्षा रद्द करने जैसा फैसला ले सकती है? फिलहाल परीक्षाओं को स्थगित करने से संबंधित विकल्प पर विचार करने की संभावना नजर नहीं रही है, क्योंकि परीक्षा में ज्यादा समय नहीं बचा है.

 

इस साल देश में कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति को देखते हुए बोर्ड परीक्षा दो  पारी में कराने का फैसला लिया गया. जो छात्र संक्रमण के कारण एक परीक्षा में शामिल नहीं हो सके, उनके अंकों की गणना दूसरी परीक्षा के आधार पर की जाएगी। हालांकि इस नीति को अब सीबीएसई द्वारा समाप्त करने का निर्णय लिया गया है, इसके लिए संशोधित पाठ्यक्रम भी जारी कर दिया गया है।

 

हालांकि असमंजस की स्थिति यह है कि बढ़ते कोरोना के बीच होम सेंटर पर परीक्षा कराई जाए या किसी अन्य केंद्र पर। हालांकि इस बात की पूरी संभावना है कि बोर्ड की परीक्षाएं होम सेंटर पर ही कराई जाएं। वहीं अगर कोरोना की स्थिति और खराब होती है तो परीक्षा को ऑनलाइन करने पर विचार किया जा सकता है.

 

हालांकि एक विकल्प यह भी है कि परीक्षा ऑफ़लाइन आयोजित की जानी चाहिए, लेकिन कोई झिझक नहीं होनी चाहिए। ऐसे में बोर्ड परीक्षा के दौरान कोरोना को ध्यान में रखते हुए जरूरी प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा. परीक्षा के दौरान सख्त पाबंदियों से समझौता नहीं किया जाएगा, जिससे किसी भी छात्र की सुरक्षा को कोई खतरा  नहीं लिया जाएगा नहीं लिया जाएगान हो।

Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url