शायद इश्क अब......................


शायद इश्क अब उतर रहा है सर से,
मुझे अलफ़ाज़ नहीं मिलते शायरी के लिए.

 

Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url